Rohit Sharma had to do what Sachin Tendulkar did for many years" - Sanjay Manjrekar, after India's 1st Test defeat
  • 29 January 2024
  • jackson13bhai@gmail.com
  • 0

 

  • बारिश के बाद भी टेंशन: Sanjay Manjrekar ने कहा कि भारत को 231 रनों का लक्ष्य अवलोकन करने के बाद भी उनके अनुभवहीन बैटिंग लाइनअप को मिली बड़ी चुनौती के कारण रोहित शर्मा ने एकलहस्त के रूप में कार्य करना पड़ा।
  • तेंदुलकर की भूमिका का उल्लेख: उन्होंने बताया कि सचिन तेंदुलकर ने अपने कई वर्षों के करियर में एक ही बैटर के रूप में कार्य किया था, और रोहित को भी उसी तरह का कार्य करना पड़ा।

2. भारतीय बैटिंग लाइनअप की चुनौती:

  • युवा बैटर्स की गुंजाइश: Sanjay Manjrekar  ने उज्ज्वलता के साथ युवा बैटरों की खामियों की ओर इशारा करते हुए कहा कि उन्हें अपनी स्वाभाविक खेलने की आज़ादी दी जानी चाहिए, चाहे स्थिति जैसी भी हो।
  • तमाशबीन बैटर्स की आत्मविश्वास: मांजरेकर ने कहा कि यदि आपके पास यशस्वी जैसवाल, शुभमन गिल या श्रेयस अय्यर जैसे हमलावर बैटर हैं, तो उन्हें चाहे जैसी भी स्थिति हो, उन्हें उनकी प्राकृतिक खेलने की स्वतंत्रता दी जानी चाहिए।
See also  Is Virat Kohli the Undisputed GOAT of ODI Cricket? His Unbelievable Stats and Dominance Will Leave You Speechless!

3. भारत की ताकतब: Sanjay Manjrekar

  • दबाव में बुरा प्रदर्शन: Sanjay Manjrekar ने कहा कि भारत ने हाल के मौकों पर दबाव का सामना किया है और टेस्ट मैच जीतने की क्षमता को लेकर उन्हें उनमें साहस की कमी महसूस हो रही है।
  • मैच हार के बाद विचार: उन्होंने कहा, “इस समय यह हमें इस भारतीय टीम को स्वभाव से देखने का समय है जब उनकी पीठ दीवार के खिलाफ है और अगर उन्हें गेम हारने का खतरा है तो वे कैसे प्रतिक्रिया करते हैं।”

निष्कर्ष: संजय मांजरेकर ने बताया कि रोहित शर्मा को विशेष रूप से बड़े लक्ष्य को हासिल करने की कठिनाई में एकलहस्त के रूप में कार्य करना पड़ा और युवा बैटरों को उनकी प्राकृतिक खेलने की स्वतंत्रता देने की आवश्यकता है।